August 23, 2020

SelfieReporter

Share your self shot news videos, stories and earn

बंदर पालने के मामले में चंडीगढ़ का टैटू आर्टिस्ट कमलजीत सिंह गिरफ्तार

हाइलाइट्स:

  • पंजाब के चंडीगढ़ से गिरफ्तार किया गया टैटू आर्टिस्ट कमलजीत सिंह और उसका मैनेजर
  • कमलजीत सिंह ने अपने इंस्टाग्राम पर बंदर के साथ अपना एक फोटो पोस्ट किया था
  • मामले पर विवाद खड़ा होने के बाद कमलजीत सिंह ने अपने पोस्ट डिलीट कर दिए थे

चंडीगढ़
चंडीगढ़ के एक टैटू आर्टिस्ट कमलजीत सिंह और उसके मैनेजर को बंदर को पालतू जानवर के रूप में रखने और उसकी फोटो को इंस्टाग्राम अकाउंट पर प्रदर्शित करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। टैटू आर्टिस्ट, जो कामजिंकजोन टैटू स्टूडियो का मालिक है, उस पर बंदर को जबरन मादक पदार्थ पिलाने का आरोप भी है, जिससे उसने इनकार कर दिया है। उप वन संरक्षक अब्दुल कयूम ने ट्वीट कर कहा, ‘हरक्युलिन का काम तमाम हो गया है। डब्ल्यूपीए (वन्यजीव संरक्षण अधिनियम) 1972 के तहत वन्यजीव अपराधियों के खिलाफ एक उपयुक्त कार्रवाई की गई है। इससे सभी टिकटॉकर्स को एक संदेश पहुंचेगा कि वन्यजीव को न तो पाला जा सकता है और न ही शिकार किया जा सकता है।’

फंसने के डर से कमलजीत ने हटा दी फोटो
टैटू आर्टिस्ट और उसके मैनेजर दीपक पर वन्यजीव संरक्षण अधिनियम, 1972 की धारा 9, 39 और 50 के तहत मामला दर्ज किया गया है। कमलजीत सिंह के कंधे पर बैठे एक बंदर की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थीं। जैसे ही उसे पता चला कि वह कानून के शिकंजे में फंस गया है, उसने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से तस्वीरें हटा दी हैं।

पीपल फॉर द एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल्स (पीटा) की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए स्थानीय वन और वन्यजीव विभाग ने आर्टिस्ट के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। आर्टिस्ट ने पुलिस को बताया कि उसने बंदर को घायल अवस्था में हिमाचल प्रदेश के कसौली पहाड़ियों से बचाया था। उसने बताया कि जब उसे पता चला कि बंदर को कैद में रखना एक अपराध है, तो उसने बंदर को जंगल में छोड़ दिया। उसने सफाई देते हुए पुलिस को बताया कि बंदर को कोई मादक पदार्थ नहीं पिलाया गया है, उसने जो पिलाया था वह सेब और अनार के रस का मिश्रण था।

[ad_2]

Source link

%d bloggers like this: