August 23, 2020

SelfieReporter

Share your self shot news videos, stories and earn

तेलंगाना प्लांट आग: अंदर फंसे नौ लोगों की मौत, पीएम मोदी और उपराष्ट्रपति ने जताया दुख

हाइलाइट्स:

  • श्रीसैलम पावर प्लांट में आग लगने के चलते फंसे 9 लोगों की मौत, कई लोग घायल
  • गुरुवार की रात में आग लगने के चलते प्लांट के अंदर ही इंजिनियर समेत 9 लोग फंसे
  • हादसे के वक्त प्लांट में कुल 25 लोग थे, जिसमें से बाकी लोगों को निकाल लिया गया था

हैदराबाद
तेलंगाना और आंध्र प्रदेश की सीमा पर जमीन के अंदर बने श्रीसैलम पनबिजली प्लांट में गुरुवार रात आग लग गई थी। प्लांट के अंदर फंसे नौ लोगों की मौत हो गई है। बताया गया कि ये लोग लेफ्ट बैंक पावर हाउस में फंस गए थे। अधिकारियों ने बताया कि घटनास्थल से घना धुआं निकल रहा था, इस वजह से बचावकर्मी अंदर नहीं जा पाए और लोगों की अंदर ही मौत हो गई। हादसे में लोगों की मौत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने दुख जताया है।प्लांट में मौत के बाद जिन दो लोगों के शव बरामद किए गए हैं, वे सहायक इंजिनियर हैं। नगर कुर्नूल के जिलाधिकारी एल शरमन ने बताया कि सहायक इंजिनियर सुंदर नायक का शव बरामद किया गया है और उसे पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। पुलिस ने एक अन्य शव की पहचान सहायक इंजिनियर मोहन कुमार के रूप में की है।

पीएम मोदी और उपराष्ट्रपति ने जताया दुख
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर दुख जताया है। उन्होंने कहा, ‘श्रीसैलम प्लांट में लगी आग बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। मेरी संवेदना पीड़ित परिवारों के साथ है। मुझे उम्मीद है कि घायल जल्द ही ठीक हो जाएंगे।’ उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने भी दुख जताते हुए कहा कि हादसे में लोगों की मौत से बहुत दुख हुआ है, मेरी संवेदनाएं पीड़ित परिवारों के साथ हैं।

जिलाधिकारी ने बताया कि केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के जवान भी राहत अभियान में शामिल हुए हैं और दमकल की पांच गाड़ियां अभियान में लगी हुई हैं। उन्होंने बताया कि सुरंग से धुआं निकल रहा है और धुएं को हटाने के प्रयास किए जा रहे है। तेलंगाना-आंध्र प्रदेश सीमा पर जमीन के अंदर बने श्रीसैलम पनबिजली संयंत्र में गुरुवार रात आग लग गई थी। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि छह लोगों को सांस लेने में दिक्कत के बाद स्थानीय अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

हादसे के वक्त प्लांट में थे 25 लोग
एल शरमन ने कहा था कि अंदर फंसे लोगों के पास मोबाइल फोन नहीं थे इसलिए हम उनसे संपर्क नहीं किया जा सका और वहां मोबाइल नेटवर्क भी नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रारंभिक सूचना के अनुसार, आग शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी होगी। तेलंगाना स्टेट पॉवर जेनरेशन कॉरपोरेशन (जेनको) के मुख्य अभियंता बी सुरेश के मुताबिक जब हादसा हुआ उस वक्त संयंत्र में कम से कम 25 लोग थे, जिनमें से 15-16 बाहर आने में कामयाब रहे।

प्लांट में आग के चलते अंदर ही फंस गए थे नौ लोग

[ad_2]

Source link

%d bloggers like this: